Monday, August 13, 2012

. २०५० से पहले प्रलय नहीं पर बहुत कुछ प्रलय जैसा घटेगा !

. २०५० से पहले प्रलय नहीं पर बहुत कुछ प्रलय जैसा घटेगा !

मैं एक विषय पर शोध कर रहा हूँ !यह ज्योतिष् मे कर रहा हूँ ! विषय बहुत
ही विवादस्पद है,इसी लिए कुछ स्पष्ट नही बता सकता हूँ ! - २०५० से पहले
एक विशेष साल ऐसा होगा जिसमे सब कुछ तो नही पर बहुत कुछ ख़तम हो जाएगा ,
विशेष कर भारत में.!बहुत धन जन हानि होगी !
यह प्रलय तो नही होगा पर पर प्रलय जैसा होगा !यह सब कैसे होगा इस पर मेरी
शोध जारी है संभवतः साल लग जाए !मैं इसके लिए हिन्दी भाषा के कुछ बड़े
विद्वानों  से मिला हूँ पर संतुष्ट नही हूँ!यह  है तो ज्योतिष् का एक शोध
पर इसमे काई विषयों के लोगों , विद्वानों की आवश्यकता है.
यह संकेत सर्वप्रथम मुझे एक विद्वान महात्मा ने  दिया और मुझे आदेश किया
की मैं इस विषय पर शोध करूँ ! इसमे भारत के साहित्या के एक विद्वान के
लिखे हुए लेख का भी इस्तेमाल करना है ! इतना तय है की सब कुच्छ ख़तम नही
होगा जैसा "प्रलय" की अवधारणा मे है.पर यह अभी तक की सबसे बड़ी जान हानि
होगी !

फिर उसको ज्योतिष् के अनुसार देखना है की घटना संभव है की नही !मुझे इसके
लिए बंगाल असम और कुछ पूर्वी राज्यों के कम से कम ५०० लोगो की कुंडली
चाहिए !

मैं उस विशेष साल के बारे मे अभी कुछ भी बताने की स्थिति मे नही हूँ !पर
मैं इतना कह सकता हूँ की यह अभी तक का ज्योतिष् का सबसे बड़ा शोध होगा !

ईश्वर करे यह घटना ताल जाए जिसमे करोड़ों लोगों के ख़तम होने की बात है
विशेषकर भारत मे! मैं इस पर ज़्यादा नही लिखना चाहता ! कारण दो है १.इस
पर अभी मुझे और काम करना है!दूसरा इतने पहले ही मैं विवादों मे नहीं आना
चाहता !

आने वाले समय  मे मैं इस पर लगातार लिखूंगा!

ज्योतिषी सुशील कुमार सिंह

ज्योतिष् की 5 महत्वपूर्ण दशायें

4 अन्य महत्वपूर्ण बाते हैं ! ग्रहों का गाणांत या सर्पदेश क्राड में होना या पाप्कर्तरी में होना ! ग्रह कहीं मृत्यूभाग म...