Monday, December 31, 2012

कैसा रहेगा भारत के लिए साल २०१३ - वैदिक ज्योतिष् के आईने मे

२०१३ - कैसा रहेगा भारत के लिए !

भारत -
१४ जनवरी से २७ जून तक स्थिति बहुत ही खराब दिखती है !राहु और शनि का एक ही राशि मे होना किसी भी तरह अच्च्छा नही कहा जा सकता है !यह दोनो क्रूर ग्रह छठे भाव मे जन्मकालीन बृहस्पति के उपर से गुजरेंगे ! नेताओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन होते रहेंगे !
किसी बड़े नेता का चरित्र हनन देश को शर्मिंदा करेगा ! राजनीति मे बहुत बड़े बदलाव होंगे ! कॉंग्रेस की मुश्किले
२७ जून २०१३ तक भारत की कुंडली मे सूर्य मे शनि की विनषोत्तरी दशा चल रही है ! सूर्य सरकार , सत्ता , कैबिनेट , मुख्यमंत्री , प्रधानमंत्री , बड़े बिसनएस घरानों ,बड़े नामी धार्मिक नेताओ आदि का प्रतिनिधित्व करता है ! चूँकि सूर्य शनि और केतु से पीड़ित है और नवांश मे शनि और मंगल से पीड़ित है ! इसलिए सत्ता मे बैठे लोग हठी और अभिमानी हो गये ! जुलाइ २०१२ से सूर्य मे शनि की दशा चल रही है और यह शनि सूर्य के साथ ही भारत की स्वतंत्रता की कुंडली मे तीसरे घर मे बैठा है ! इस लिए जून तक स्थिति और खराब हो जाएगी ! तीसरा घर संचार , प्रेस , मीडिया रेलवे आदि का होता है !
जून से भारत बुध की अंतरदशा मे आजाएगा ! बुध भी सूर्य शनि शुक्र और चंद्र के साथ तीसरे घर मे बैठा है ! बुध बी उन्ही चीज़ो का कारक है जो तीसरे घर का प्रतिनिधित्व करती है ! अर्थात मीडिया संचार इत्यादि ! इतना तय है की मीडिया और संचार से संबंधित कुछ अच्छा और कुछ बहुत बुरा घटने वाला है २०१३ मे ! चूँकि बुध दूसरे घर का स्वामी है है इसलिए अर्थव्यवस्था कुछ खराब होसकती है ! मनोरंजन और सिनेमा से संबंधित लोग आर्थिक अपराध मे फसेंगे ! इस सा नेताओं के अलावा अन्य छेत्रों के जानेमाने लोग आर्थिक अपराध मे फसेंगे और मीडिया मे बड़े व्यापारिक घरानों के घोटालों से संबंधित खबरें सुर्खियाँ बटोरेंगे ! कुछ बड़े बॅंक भी इन्ही मामलों मे चर्चा के केंद्र मे रहेंगे !
एक या काई बड़े नामी लोग सेक्स स्कैंडलों मे फास्टे दिख रहे है ! इन मामलों मे यह साल विचित्र दिख रहा है ! १४ अप्रैल १३ के बाद जब मंगल राहु और शनि को गोचर मे देखेगा तब स्थिति और खराब होगी ! यह एक कुछ दिनों का समय भा. ज. पा के लिए भी ठीक नही है ! और कॉंग्रेस के किसी बड़े नेता के स्वास्थ्य के लिए भी ठीक नही है !

साल के मध्य से अगले साल तक मीडिया , सिनेमा , मनोरंजन जगत और बड़े व्यापारिक घरानो से संबंधित कुछ बुरे समाचार हैं !
कॉंग्रेस -
 अक्तूबर २०१३ तक कॉंग्रेस अगर अपने आप को बचा ले गयी तो आगे समय उतना बुरा नही है ! पर अक्तूबर २०१३ तक बहुत कुछ होने वाला है उसके साथ ! जनवरी २००२ से २०१२ तक कॉंग्रेस जैमिनी की अनुकूल कर्क दशा मे थी ! पर जनवरी २०१२ से वह अशुभ और प्रतिकूल सिंह राशि की चार दशा मे आ चुकी है ! यह दशा कॉंग्रेस के लिए बिल्कुल भी ठीक नही है ! देखिए जैमिनी की सिंह चारदशा मे वक्री और नीच का मंगल किस तरह दसवे घर मे बैठा है ! यह दूसरे और सातवे घर स्वामी भी है ! अर्थात यह कॉंग्रेस के लिए सिर्फ़ बुरा ही नही अशुभ भी है ! क्योकि दशा और अंतरदशा दोनो मारक राशियों की है इसलिए उसके लिए समय बहुत ही खराब है ! 
भ.ज.पा -
 २२ जनवरी तक पार्टी कलह और झगड़ों मे फाँसी रहेगी ! २२ जनवरी से मई तक पार्टी सूर्य मे लाभेश और शष्टेश मंगल की अंतरदशा मे आ जाएगी ! महादशा सूर्य की है जो मृत्यूभाग मे है ! यह मंगल सिंह राशि मे है और वक्री है जो यह दर्शा रहा है की झगड़ा तो होगा पर पार्टी मे अधिनायकत्व दिख रख रहा है ! मंगल राहु और शनि के साथ है और महादशनात सूर्य को देख रहा है अर्थात पार्टी मे माई तक एक बहुत ही बड़ा बदलाव होने वाला है !  
.राहुल गाँधी -
राहुल गाँधी के लिए यह साल बाधाओं का होगा ! क्यों की वे नवंबर २०१३ तक मंगल मे बुध की अंतरदशा मे चल रहे हैं ! बुध बुद्धि और विवेक का कारक होता है ! उनकी समझ पर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चर्चा चलती रहेगी ! उनका बुध मंगल और मंगल शनि से घिरा है ! यही उन्हे औसत बुद्धि का व्यक्ति बना रहा है ! उनका शुक्र भी केतु और मंगल से घिरा हुआ है ! अप्रैल २०१४ तक वे केतु के अंतर मे चलेंगे ! केतु बहुत ही पीड़ित है ! उन्हे अपनी छवि का खास ध्यान देना होगा ! साल २०१३ के अंत मे कुछ ऐसा हो सकता है जो उनकी प्रतिष्ता को बहुत धक्का पहुचाए ! 
 नरेंद्र मोदी - अक्तूबर २०१३ तक मोदी केतु की अंतरदशा मे हैं ! लाभ स्थान मे केतु और केतु का राशि स्वामी बुध है ! साथ मे चतुर्थेश शनि और शुक्र भी है ! चौथा और पाँचवाँ तथा तीसरा भाव मंत्री मुख्यमंत्री तथा प्रधानमंत्री के लिए देखा जाता है ! मोदी का पांचमेश चौथे घर मे है ! चतुर्थेश लाभ भाव से पाँचवे घर को देख रहा है ! मोदी की कुंडली मे राजयोग है और उन राजयोगों की दशा भी चल रही है ! इतना है की वे अपनी सुरक्षा पर ज़्यादा ध्यान दें !

Saturday, December 29, 2012

NEW YEAR 2013 PREDICTIONS FOR INDIA – PART 1

NEW YEAR 2013 PREDICTIONS FOR INDIA – PART 1

We are about to enter in new year 2013.and the december of 2012 was abnormal due to some incidents like gang rape of a medico girl in delhi and huge protests in Delhi.From 14th January till 27th june state of the nations does not seem good at all. From july 2012 India is already running in SUN –SAT period of vinshottary mahadasha.from 14th January Rahu will enter in thula the libra and conjoin with Saturn.in mundane astrology Saturn and Rahu combination is considered very bad especially in the sixth house of any nation. And worst is that these both planets are transiting over natal Jupiter of India. Any reputed politician will be exposed for any sex scandal. There will be very rapid change in politics after may. Till 27th june 2013 country is running in the Sun –Saturn vinshottary period with a worse transit of Saturn and rahu.
Sun represents governments, authorities, cabinets, prime minister, chief ministers, the renowned business tycoons and reputed religious leaders. Since sun is afflicted by Saturn and ketu and by mars and Saturn in navamsa.this is the cause that the men women in power are showing arrogance of highest level. Till june 2013 situation will be worsen due to various reasons. All threes planets are situated in the third house of the natal horoscope of India. Third house represents communication, press, media and railway.

BAD YEAR FOR ECONOMY, MEDIA AND ENTERTAINMENT SECTOR

From june India will be running in the antardasha of mercury .mercury is also placed in the third house with sun Saturn moon and Venus. Mercury represents almost the same things which are represented by the third house any horoscope. Mercury is the lords of the second and fifth houses of the lagna horoscope. Fifth house signifies entertainment industry. So this is sure that some thing bad is going to happen with the media and communication sector of the country. Mercury represents business and trade. Some persons related business, trade and entertainment sector will be trapped in any issue or scandal. Few media houses/persons famous writers /authors and banks will be in disputes for sure. This mercury is certainly going to fade the futures of few important persons. Some incidents related to tax will rock the nation.

SEX SCANDAL -

A sex scandal is also seen which will create trouble for any reputed politician/person.Mercury is a planet which generally attains the characters of other planets associated with him. So mercury will give the impact of sun, saturn, moon and Venus. Few of these incidents will happen in the later half of the year 2013 and few in the first half. From 14th april 2013 mars will aspect Rahu and Saturn combination for few days. And this will prove bad for B.JP and Congress. For congress this may be bad for the health of any big shot.

CONGRESS PARTY –

If Congress could save her prestige and reputation till october then this will be a miracle because planets are not supporting. This is very important to note that the congress party and the country both are running in the saturn antardasha.this saturn is making the leaders of the congress party arrogant and stubborn. I have already written about the ominous and worst period of Congress party and BJP (one can read older predictions in the blog – ASTROLOGICAL PREDICTIONS and in the website – www.astrosushilworld.com).

BHARTIYA JANTA PARTY 

Till 22nd January BJP will be in the phase of feud and infightings. From 22nd January 2013 Bhartiya Janta Party will be in the sub period of sixth and eleventh lord. So there seems the struggle in the party because of the involvement of the sixth house and any kind of gain also. I see dominance and monopoly of one or few persons in the party. See the mars of leo sign simha rashi in the third house of velour .this shows great disputes in the party and some thing bad going to happen there. but this is a phase of transformation in the party. Since may party will be running in the antardasha of Rahu.

RAHUL GANDHI –

 2013 is the year of hurdles for Rahul Gandhi.till November 2013 he is running in the mercury antardasha of mars mahadasha. This mercury is in paptarkari yoga.Mercury is surrounded by mars and Saturn and venus is surrounded by ketu and mars. And mahadasha lord mars is aspected by Saturn. Because of this mercury questions are raised on his intellect and wisdom. From November till 2014 he will be running in the ketu antardasha.ketu is too afflicted in his chart. He should be more cautious about his image. Some thing may happen which can tarnish his image.

NARENDRA MODI – 

Till October 2013 he is in the ketu antardasha .in the eleventh house of gain ketu is placed with its lord mercury and debilitated Venus. Fourth fifth and ninth house is seen for the highest posts like prime minister, chief ministers etc .the fifth lord of Narendra Modi is placed in the fourth house and the fourth lord aspects fifth house from eleventh house of gain. The chart of Narendra Modi has rajyogas but he should be too cautious regarding his security and health.

Second part of these predictions including other politicians will be published soon.

www.astrosushilworld.com

Monday, December 24, 2012

साल २०१३ - नरेंद्र मोदी के नाम

नरेन्द्रा मोदी का जन्म १७ अक्तूबर १९५० को वादनगर गुजरात मे दिन के १० बजे हुआ ! काफ़ी संघर्ष करते हुए मोदी अब तीसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री होने जा रहे हैं ! मोदी की अनेक अच्च्छाइया या बुराइयाँ हो सकती हैं पर दो चीज़ें उन्हे भारत के हर बड़े नेता से अलग करती हैं पहली वे दिन रात अपनी जनता के लिए परेशान रहते है और उनके जीवन मे बदलाव की तैयारी करते रहते है क्यों की उनके कोई परिवार नही है और क्यों की परिवार नही है है इसलिए वी व्यक्तिगत रूप से ईमानदार हैं.
उपरोक्त दोनो गुडों को उनकी कुंडली मे देखा जा सकता है ! सप्तमेश शुक्र शनि राहु केतु से पीड़ित होकर उन्हे वैवाहिक सुख से पूर्णतया वंचित कर रहा है ! मंगल पुनः सप्तम भाव को देख रहा है !

राहु महादशा मे वे पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने ! इस समय बृहस्पति की महादशा चल रही है ! बृहस्पति मे केतु की दशा मे वे तीसरी बार चुनाव जीते ! बृहस्पति पंचमेश है और चौथे भाव मे है ! यह बहुत बड़ा राजयोग है ! पर बृहस्पति वक्री भी है और मार्केश भी है ! अक्तूबर २०१३ के बाद उन्हे अपनी सुरक्षा पर विशेष ध्यान देना होगा ! छठे घर का स्वामी मंगल लग्न मे स्थित होकर उन्हे हिम्मती तो बना रहा है पर कुछ बुरे संकेत भी दे रहा है ! उनके चेहरे पर मंगल का विशेष प्रभाव दिखता है जो उनकी कुंडली मे लग्न मे स्थित मंगल दर्शा रहा है ! उन्हे अपनी सुरक्षा को लेकर अति आत्मविश्वास नही दिखाना चाहिए !
दूसरी बात अगले मुद्दे की !उनके सितारे प्रधानमंत्री पद के लायक है क्यों की प्रधानमंत्री का कोई विशेष राजयोग नही होता है ! अक्तूबर २०१३ तक नरेंद्र मोदी नाम भारत की राजनीति मे चर्चा का विषय होगा ! वे चर्चा के केंद्र मे रहेंगे ! उसके बाद नरेन्द्रा मोदी राष्ट्र नेता के रूप मे दिख रहे हैं ! नवंबर २०१३ से वे महत्वपूर्ण और फलदायी राजयोग मे आ जाएँगे ! एक बात और भारत का लग्न ब्रश है और मोदी का लग्न ब्रश्चिक ! ब्रश और ब्रिस्चिक एक दूसरे को सीधी दृष्टि से देख रहे हैं !

DATE - 17TH OCTOBER 1950
TIME - 10:00
PLACE - VADANAGAR GUJRAT

www.astrosushilworld.com

Friday, December 21, 2012

Sunday, December 9, 2012

HOROSCOPE OF P.CHIDAMBARAM - NO YOGA FOR P.M



P.CHIDAMBARAM – NO RAJYOGA FOR BECOMING P.M

This prediction is based on the birth details of Chidambaram which not verified.

From few days one more name is in news for the post of prime minister from Congress party. And that name is of current finance minister P.Chidambaram.He is in news for his direct cash transfer scheme and few other economic reforms. Media especial foreign media has announced him as next prime ministerial candidate from Congress party. There may be many reasons for this.

HOROSCOPE – 
According to the birth detail which is yet to be verified Chidambaram was running in the Jupiter – Venus vimshottary dasha from march 2009.venus antardasha gave him mixed results. In this dasha he got birth in Manmohan cabinet. But in the same dasha he faced many charges of corruption. In the public his image tarnished. Before this he was considered very honest politician. His venus is in the bhagyasthan (house of luck) but the venus is twelfth house lord also. In navamsa this venus is exalted. Because of these combinations venus gave mixed results. From November 2012 Chidambaram entered in sun antardasha.sun is well placed in the tenth house being tenth lord. This dasha also worked well but allegations of corruption continued. Since September 2012 Chidambaram has entered in moon antardasha.this antarasha is going to give results just opposite to the public perceptions.
In the lagna horoscope moon is in second marak house aspected by Rahu mars and Saturn from eighth house. This is too dangerous situation. This moon dasha will last till december 213.so according to the available birth details next year is not good for P.Chidambaram.

Chaturshitisama dasha – 

According to chaturshithisama dasha he is running in mercury – mars. For reading the impacts of conditional dasha one must see the related divisional chart. See the dashamsa chart. Mars is aspected by Saturn here in navamsa mars is again in Rahu Ketu axis.

In coming years Chidambaram will not be able to get a birth in cabinet according to this horoscope. So how can an astrologer predict him as P.M.

Saturday, December 8, 2012

BEST REMEDY FOR SATURN - NEEL SHANI STROTA

CHANT THIS DASHRATH KRIT SHANI STROTA.THIS IS BEST REMEDY FOR SATURN
दशरथकृत शनि स्तोत्र :-
नम: कृष्णाय नीलाय शितिकण् निभाय च।
नम: कालाग्निरूपाय कृतान्ताय च वै नम: ॥1॥
नमो निर्मांस देहाय दीर्घश्मश्रुजटाय च ।
नमो विशालनेत्रय शुष्कोदर भयाकृते॥2॥
नम: पुष्कलगात्रय स्थूलरोम्णेऽथ वै नम:।
नमो दीर्घायशुष्काय कालदष्ट्र नमोऽस्तुते॥3॥
नमस्ते कोटराक्षाय दुख्रर्नरीक्ष्याय वै नम: ।
नमो घोराय रौद्राय भीषणाय कपालिने॥4॥
नमस्ते सर्वभक्षाय वलीमुखायनमोऽस्तुते।
सूर्यपुत्र नमस्तेऽस्तु भास्करे भयदाय च ॥5॥
अधोदृष्टे: नमस्तेऽस्तु संवर्तक नमोऽस्तुते।
नमो मन्दगते तुभ्यं निरिस्त्रणाय नमोऽस्तुते ॥6॥
तपसा दग्धदेहाय नित्यं योगरताय च ।
नमो नित्यं क्षुधार्ताय अतृप्ताय च वै नम: ॥7॥
ज्ञानचक्षुर्नमस्तेऽस्तु कश्यपात्मज सूनवे ।
तुष्टो ददासि वै राज्यं रुष्टो हरसि तत्क्षणात् ॥8॥
देवासुरमनुष्याश्चसि ्विद्याधरोरगा:।
त्वया विलोकिता:सर्वे नाशंयान्ति समूलत:॥9॥
शनि मंत्र
कोणस्थ: पिंगलो बभ्रु: कृष्णौ रौद्रोंतको यम: l
सौरी: शनिश्चरो मंद:पिप्पलादेन संस्तुत: l
नमस्ते कोणसंस्थाय पिंगलाय नमोस्तुते l
नमस्ते रौद्रदेहाय नमस्ते चांतकायच l
नमस्ते मंदसंज्ञाय नमस्ते सौरयेविभो l
नमस्ते यमसंज्ञाय शनैश्चर नमोस्तुते l
प्रसादं कुरु देवेश: दीनस्य प्रणतस्यच ल
शनि स्त्रोत्र
निलान्जनम समाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम।
छायामार्तंड संभूतं तं नमामि शनैश्चरम॥
सूर्य पुत्रो दीर्घ देहो विशालाक्षः शिवप्रियः।
मन्दचारः प्रसन्नात्मा पीडां हरतु मे शनिः ॥
कोणस्थ पिंगलो ब्रभू कृष्णो रौद्रो दंतको यमः।
सौरिः शनैश्वरो मन्दः पिप्पालोद्तः संस्तुतः॥
एतानि दशनामानी प्रातः रुत्थाय य पठेतः।
शनैश्वर कृता पिडा न कदाचित भविष्यती॥
for getting personal predictions visit - www.astrosushilworld.com



18 Planetary Combinations of delayed marriages

(Articles already published in astrology portal of Times of India and being reproduced here) There are many planetary combinations give...